ट्रिपल तलाक पर पीड़िता ने मौलाना को दिया मुहतोड़ जवाब!

देखिये क्यों तलाक पीड़िता ने कहा मौलाना को ड्रामेबाज़!

8504

भारत सरकार के सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल एक याचिका पर अपना पक्ष रखने के बाद देश में तीन तलाक का मुद्दा एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया है| यह बहस पूरे देश में चल रही है जिसमें तमाम मुल्ले-मौलवी अपने अपने तर्क-वितर्क के साथ इस मामले की वर्तमान व्यवस्था के पक्ष में डटे हुए है| भारत सरकार इसके पुरजोर विरोध में है और साथ ही मुसलमानों का एक अल्पसंख्यक हिस्सा भी इसका विरोध कर रहा है|

स्त्रियों की गरिमा, सम्मान और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए क़ुरान ने समाज में बहुत सारे प्रावधान किए हैं| तलाक के मामले में भी इतनी रोक-टोक लगाई गयी है जिससे पति अपनी पत्नी को तलाक़ देने से पहले हज़ार बार सोचेगा| तलाक़ को क़ुरान ने न करने लायक काम बताया है| इसके मुताबिक रिश्ते को बचाने के लिए हरसम्भव प्रयास, पति-पत्नी के बीच बात-चीत और दोनों के परिवारों के बीच संवाद की कोशिशें शामिल हैं|

source

मकसूद उल हसन कासमी, इमाम काउंसिल के अध्यक्ष एक डिबेट शो की एंकर पर ट्रिपल तलाक के सवाल पर बौखला गये। एक टीवी चैनल की बहस के दौरान ट्रिपल तलाक पर कासमी ने शो के एंकर से कहा-” ये कैसी पत्रकारिता कर रहे हैं आप लोग जो सिर्फ तलाक पीड़िता की ही बात सुन रहे हैं।” कासमी के इस बयान पर शो में आई एक तलाक पीड़िता ने उन्हें ऐसा जवाब दिया कि उनकी ज़बान पर ताला लग गया।

एक हिंदी न्यूज चैनल पर ट्रिपल तलाक की समस्या पर बहस के लिए एक डिबेट आयोजित किया गया था। इस शो में भाजपा, कांग्रेस के प्रवक्ताओं के साथ-साथ उलेमा काउंसिल और इमाम काउंसिल के सदस्यों को भी आमंत्रण मिला था। इस शो की सबसे दिलचस्प बात यह थी कि ट्रिपल तलाक पर बहस करने वाले प्रतिनिधियों के साथ ही तलाक पीड़िता महिला समीना बेगम भी उपस्थित थीं।

पेज 2 पर देखिये कैसे तलाक पीड़िता ने उड़ाई मौलाना की धज्जियाँ…

1 of 2

Loading...
Loading...