ट्रिपल तलाक पर पीड़िता ने मौलाना को दिया मुहतोड़ जवाब!

देखिये क्यों तलाक पीड़िता ने कहा मौलाना को ड्रामेबाज़!

8504

तीन तलाक इस्लाम के खिलाफ नहीं है बल्कि…

शो की एंकर ने इस बहस को शुरू करते हुए उन सभी लोगों पर निशाना साधा जो तीन तलाक के पक्ष में अपनी दलीलें देते रहते हैं। एंकर ने इमाम काउंसिल के अध्यक्ष से कहा-“महिलाओं के साथ तीन तलाक के नाम पर अन्याय हो रहा है, उनके मानवाधिकारों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं और आप लोग चुप हो कर इसका तमाशा देख रहे हैं।” एंकर की ओर से अपने और बाकी मुल्लों के उपर इतना करारा प्रहार देख इमाम काउंसिल के अध्यक्ष मकसूद उल हसन कासमी उत्तेजित हो उठे। वे इतना क्रोधित हो गए कि शो की एंकर पर ही सवाल दागने लगे।

source

कासमी ने एंकर से कहा-“क्या पत्रकारिता का ऊसूल ये नहीं कहता कि दूसरे पक्ष की भी राय पर ध्यान दिया जाए।” कासमी ने यह भी कहा-“क्या पता किसकी गलती हो, महिला की या उसके पति की।”

तलाक पीड़िता समीना बेगम मकसूद कासमी के इस बयान से गुस्से में आ गईं। समीना ने कासमी से पूछ डाला-“आप लोगो को तीन तलाक खत्म करने की बात पर डर क्यों लग रहा है। कहीं आप लोगों को ये डर तो नहीं है कि इससे आप लोगों की ड्रामेबाजी खत्म हो जाएगी। तीन तलाक खत्म करना इस्लाम के नहीं आप जैसे फालतू के प्रोपगेंडा सेट करने वाले लोगों के खिलाफ हैं।” समीना के सवालों से गरमाए माहौल को शो की एंकर ने अपने तरीके से शांत किया।

2 of 2

Loading...
Loading...